शेयर बाजार share market में नुकसान से बचने के 7 टिप्स

शेयर खरीदते वक्त ध्यान में रखें यह बातें शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले कौन सी बातें ध्यान में रखनी चाहिए शेयर खरीदने से पहले क्या जानना जरूरी है

शेयर मार्केट में पैसा निवेश करने वाले हर एक व्यक्ति के मन में एक बात जरूर आती है कि एक अच्छा मजबूत लाभ देने वाले शेयर खरीदने से पहले क्या करना चाहिए जिससे कि निवेश करने वाले को अच्छा लाभ मिले

ऐसी कौन सी प्रक्रिया है जो किसी भी शेयर (share/stock) को खरीदने (buy) से पहले आपको जरूर देखनी चाहिए?

किसी भी stoke को खरीदते समय सिर्फ उसका प्राइस (stock price) को ही नहीं देखना चाहिए बल्कि उस कंपनी के बारे में पूरी जांच पड़ताल कर लेनी चाहिए और उस कंपनी की अन्य चीजों का भी पता करना जरूरी होता है

इन सब चीजों को देखने से आपका पैसा एक अच्छी सुरक्षित कंपनी में (इन्वेस्ट हो) निवेश हो यदि आप यह जानकारी नहीं ले तो आपका पैसा किसी असुरक्षित कंपनी में भी जा सकता है इसलिए आपको यह जानकारी जरूर ले लेनी चाहिए

तो दोस्तों आज मैं आपको इस पोस्ट के अंदर एक कंप्लीट डिटेल चेक लिस्ट देने वाला हूं जिसमें आपको पॉइंट to पॉइंट को ध्यान में रखते हुए किसी भी स्टॉक मार्केट (stock market) मैं शेयर खरीदने (share buy) से पहले इन विचारों की तरह गौर कर सकते हो

हम यह आपसे वादा करते हैं अगर आपने किसी शेर को खरीदने से पहले इस आर्टिकल के अंदर बताए हुए सभी पॉइंट को ध्यान पूर्वक फॉलो किया तो आप एक बहुत ही ज्यादा रिटर्न देने वाला स्टॉक बहुत ही आसानी से ढूंढ सकते हो

किसी शेयर को खरीदने से पहले क्या करना चाहिए

आप शेयर खरीद रहे हैं तो आप ऐसा मत समझिए कि आप सिर्फ शेयर ही खरीद रहे हैं बल्कि आप उस कंपनी हिस्सेदार बन जाते है शेयर के जरिए दरअसल आप शेर के जरिए कंपनी को फंड प्रोवाइड कर रहे होते हैं

  • कंपनी किसी भी प्रकार का बिजनेस कर सकती है

यानी कि इसका मतलब आप समझ ही गए होंगे नहीं समझे तो आइए हम बताते हैं जब आप कंपनी को शेयर के द्वारा फंड प्रोवाइड करते हैं तो उस फंड को कंपनी अपने बिजनेस में लगाती है और यदि कंपनी को फायदा होता है कंपनी आगे बढ़ेगी

इसका मतलब यह है की आपका पैसा तभी बढ़ेगा जब कंपनी का बिज़नेस आगे बढ़ेगा यानी कि जब कंपनी को फायदा होगा तब आपको भी फायदा होगा जितने आपने शेयर खरीदे हैं उनके हिसाब से लाभ होगा

ध्यान दीजिए

stock market futures अगर कंपनी को किसी ना किसी कारण नुकसान होता है या उसके बिजनेस में ग्रोथ नहीं आती या कंपनी को कोई फायदा नहीं होता और कंपनी ग्रोथ नीचे जाती है तो शेयर की कीमत घट जाती है आपने जिस कीमत पर शेयर खरीदे थे उनकी कीमत कम हो जाती है इस प्रकार आपको भी नुकसान हो सकता है

इस प्रकार के नुकसान और से बचने के लिए इस पोस्ट के अंदर कुछ पॉइंट बताएं जिन्हें फॉलो जरूर करें

stock market futures

कंपनी के बिजनेस मॉडल को समझने की कोशिश करें

आप जिस कंपनी के अंदर इन्वेस्ट करना चाहते हैं या कर रहे हैं उसका बिजनेस मॉडल का पता होना चाहिए

बिजनेस मॉडल का मतलब है कि कंपनी कैसा काम करती है कैसे पैसे कमाते हैं जब कंपनी कोई नया प्रोडक्ट बाजार के अंदर लाती है तो उसके शेयर की प्राइस काफी ऊपर और नीचे होते रहते हैं

इसी कारण कई लोग परेशान होते रहते हैं ऐसा क्यों हो रहा है लेकिन आपको परेशान होते हैं की जरूरत नहीं है क्योंकि यह कंपनी का बिजनेस मॉडल होता है

किसी कंपनी द्वारा अपना प्रोडक्ट मार्केट में लाने के बाद 3 महीने के अपना क्वालिटी रिजल्ट घोषित करती है इसके अंदर कंपनी अपने रिवेन्यू और सेल्स के बारे में बताती है और इसी के आधार पर निवेशक शेयर को खरीदते हैं और बेचते हैं

हर कंपनी के शेयर की ज्यादातर कीमत उसके क्वार्टरली रिजल्ट पर भी निर्भर करती है न केवल वार्षिक आय रिजल्ट पर आप तो इन दोनों को ध्यान में रखना है

जैसा कि हमने आपको पहले बताया था कि कंपनी को हर साल बेहतर प्रॉफिट कमाती दिखता है तो इन्वेस्टर उस कंपनी के शेयर खरीद लेती है और उस कंपनी के शेयर की कीमत बढ़ जाती है

जैसे हमने आपको पहले बताया की कंपनी के प्रोडक्ट के अंदर कोई कमी खामी दिखती है तो उसके प्रोडक्ट बाजार में

नहीं बिकते इस कारण कंपनी की ग्रोथ नीचे जाती है और शेयर के प्राइस भी कम हो जाते हैं

अगर आपने एचडीएफसी बैंक (HDFC BANK) के अंदर इन्वेस्ट किया है आपको उसकी जानकारी है कि वह बैंकिंग का काम करती है

लेकिन आपको इतनी जानकारी के साथ में शेर नहीं खरीदना आपको उस कंपनी के बारे में मुख्य जरूरी बातें पता करने की कोशिश करनी है

जैसे उदाहरण

  • कंपनी किस प्रकार का काम करती हैं
  • क्या इसकी सर्विस लोगों को अच्छी लगती है या नहीं
  • क्या इसके ऊपर कोई कर्ज तो नहीं है
  • इस पर सरकार का कितना अधिकार है

इन सभी मुख्य बातों को ध्यान में रखते हुए

और इस जानकारी को प्राप्त करने के लिए आपको उस बिजनेस मॉडल के बारे में पता करना होगा

मेरी राय किसी भी कंपनी के शेयर खरीदने से पहले उसके बिजनेस मॉडल के बारे में जरूर जान ले

कंपनी कितनी पुरानी है

जिस कंपनी के आप शेयर खरीद रहे हैं उस कंपनी एज जरूर चेक कर ले कंपनी जितनी पुरानी होगी मार्केट में उसके पास उतना ही एक्सपीरियंस होगा 

जैसे बजाज और टाटा यह कंपनी काफी पुरानी है और इनको मार्केट के बारे में अच्छा नॉलेज एक्सपीरियंस है इन्होंने कई उतार-चढ़ाव देखे हैं और उनसे निपटने का भी समाधान होता है इनके पास यह एक्सपीरियंस के कारण ही संभव होता है

बल्कि नई कंपनी कई सारी समस्याओं से अनजान होती है इनके पास एक्सपीरियंस कम होता है जिससे इनके बिजनेस में नुकसान होने की भी संभावना अधिक रहती है

इसी कारण आपको नई कंपनी के शेयर के अंदर निवेश करने से बचना है और पुरानी कंपनी के शेयर के अंदर निवेश करना है

कंपनी के फाइनेंशियल रेशों को देखना चाहिए

  • pe ratio (price to earning ratio)
  • PB Ratio (Price to book value ratio)
  • DER. (Debt to Equity Ratio)
  • ERS. ( earning per share)
  • BVPS. (Book value per share)

किसी शेर को खरीदने से पहले आप इन सभी फाइनेंशियल रेशों को देखते हैं तो आपको उस कंपनी के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी कि कंपनी फाइनेंसियल स्थिति कैसी है

शेयर खरीदने से पहले कंपनी के रेशियो जरूर देख लें जिससे आपको कंपनी के बारे में फाइनेंसियल का अंदाजा हो जाए

कंपनी पर ज्यादा कर्ज या लोन नहीं होना चाहिए

अगर आप ऐसी कंपनी के बारे में जानना चाहते हैं जिन्होंने कर्ज लेकर डूब गई तो आप गूगल कर सकते हैं ऐसे आपको अनेक कंपनियां मिल जाएगी

दरअसल कंपनियां कर लेती है और उसे समय पर ना चुकाने के कारण डूब जाती है

क्या कंपनी के लिए लोन लेना सही है

हां कंपनी लोन ले सकती है और सही भी है लेकिन उस लोन लिए हुए पैसों का इस्तेमाल सही नहीं किया जाए तो वह गलत है

जैसे कोई कंपनी अगर किसी बैंक से कोई प्रोडक्ट बनाने के लिए लोन लेती है और कंपनी उस लोन के पैसों से वह अन्य चीजों पर खर्च करती है तो वह गलत है

यह गलत इसलिए होगा क्योंकि कंपनी ने यह लोन या कर्ज़ अपने प्रोडक्ट को बनाने के लिए लिया था ना कि अन्य खर्च के लिए

अगर कंपनी के पास जिस प्रोडक्ट को बनाने के लिए लोन लिया था वह बन जाने के बाद में जो पैसा बचता है उसे वह अन्य जरूरतों मैं उपयोग कर सकता है जैसे मार्केटिंग पर आदि 

कंपनी की फाइनेंस इन हेल्थ चेक जरूर करें

जिस कंपनी के शेयर पर आप निवेश कर रहे हैं उस कंपनी के फंडामेंटल और उसकी बैलेंस की सीट पढ़ने से आपको उसकी फाइनेंसियल स्थिति यानी कि वित्तीय स्थिति का पता लग जाएगा

बैलेंस शीट को पढ़ने से आपको कंपनी के पास वर्तमान में कितना पैसा है और अभी उसके पास में कितने असेट्स है इसकी भी जानकारी बैलेंस शीट से ही प्राप्त होती है

कंपनी का मैनेजमेंट देखें

जिस कंपनी की आप शेयर खरीदना चाहते हैं उस कंपनी का मैनेजमेंट मुख्य स्टेप होता है जिसके अंदर उस कंपनी के सीईओ और उसके प्रमोटर होते हैं उनके बारे में आपको ज्यादा से ज्यादा जानकारी हासिल करनी है कि वह लोग कितने सक्सेस (success) हुए है

अगर आप ऐसी कंपनी के अंदर निवेश invest कर रहे हैं जिसका आपको मैनेजमेंट के बारे में पता नहीं है तो आपको उसके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी हासिल करनी है क्योंकि वही लोग कंपनी को सक्सेस (success) करते हैं या फिर बर्बाद कर देते हैं

कई बार ऐसा देखा गया है कि कई लोगों ने कंपनी के फंडामेंटल और बैलेंस शीट तथा फाइनेंसियल रेश्यो( financial retio) को अच्छा देखकर उन कंपनी के शेयर (share) पर निवेश कर दिया बाद में मैनेजमेंट पर जब ध्यान नहीं दिया और कुछ समय बाद यह कंपनियां पैसा लेकर भाग गई

कंपनियों का भागने का कारण यही रहा होगा कि उन्होंने मैनेजमेंट पर ध्यान नहीं दिया और कंपनी डूबती चली गई और लोगों मैं पैसे मांगने शुरू किए होंगे पैसे ना होने के कारण कंपनी भाग गई होंगी

कोई भी कंपनी मैनेजमेंट पर ही चलती है यदि आप किसी के शेयर खरीदते हैं तो आपको उसके मैनेजमेंट के बारे में भी पता होना चाहिए

my side opinion

@#इस आर्टिकल के अंदर हमने जो बातें बताई गई है अगर आप इन सभी को बातों को फॉलो करते हैं तो आप एक अच्छी और बेहतर खरीद कर पाएंगे और आप जिस शेयर के अंदर निवेश कर रहे हैं उसका साइज छोटा ही क्यों ना हो लेकिन वह भी आपको उतना ही रिटर्न ला कर देगी जो बड़ी-बड़ी कंपनियां शेयर रिटर्न नहीं देती

i am suresh kumar

मैं आशा करता हूं कि आपने इस पोस्ट को पूरा पढ़ लिया होगा इस पोस्ट के अंदर आपको पूरी जानकारी मिली होगी इस जानकारी को फॉलो करना है और फिर शेयर खरीदना है ताकि आपको कोई नुकसान ना हो

धन्यवाद

Leave a Comment